एक श्राप की वजह से अपने ही पुत्र के द्वारा मारे गए थे अर्जुन।

आज की पोस्ट में हम जानेंगे महाभारत से जुडी कुछ बातें जो कम ही लोग जानते है।

1. महागाथा

 

हस्तिनापुर की रंगभूमि और कुरुक्षेत्र की रणभूमि में गढ़ी गई महाभारत की कहानी अपने आप में एक महागाथा है।

2.कौरवों का साम्राज्य

यह बात तो सभी जानते हैं कि महाभारत का युद्ध चचेरे भाइयों के बीच लड़ा गया था, जिसमें कौरवों का पूरा साम्राज्य तबाह हो गया था।

3. कौरवों का हाल

पांडवों और कौरवों के बीच हुए युद्ध में कौरव सेना, उनके सहयोगी पूरी तरह ध्वस्त हो गए थे।

4. ईर्ष्या और लालच

जहां एक ओर इसमें धर्म पालन जैसी विषय वस्तु को समाहित किया गया है वहीं संयुक्त परिवार में चचेरे भाइयों के बीच पनपी ईर्ष्या और लालच के घातक परिणाम को भी भली प्रकार से अंकित किया गया है।

5. अर्जुन की मौत

Mysterious death of arjun in Mahabharata

लेकिन क्या आप महाभारत के एक अनसुने तथ्य से परिचित हैं जो धनुर्धर अर्जुन की मौत से जुड़ा है और वो भी उनकी अपनी संतान द्वारा?

6. मणिपुर की राजकुमारी

बहुत से लोग अर्जुन के बस एक ही पुत्र अभिमन्यु को जानते हैं लेकिन शायद आपको पता ना हो कि जब ब्रह्मचर्य की एक शर्त का उल्लंघन करने की सजा के तौर पर अर्जुन वनवास पर निकल गए थे तब उन्होंने मणिपुर की राजकुमारी से विवाह किया था।

7. अश्वमेध यज्ञ

महाभारत के युद्ध के पश्चात युधिष्ठिर ने मणिपुर में ही अश्वमेध यज्ञ का आयोजन किया था, जिसमें शामिल होने के लिए अर्जुन भी मणिपुर गए थे।

8. श्राप से मुक्ति

इसी वरदान की मदद से अर्जुन ने ऐसे पांच मगरमच्छों को मुक्ति दिलवाई जो अलग-अलग श्राप का दंड भोग रहे थे।

9. अर्जुन ने किए थे कई विवाह

 

आपको बता दें अपने वनवास काल के दौरान अर्जुन ने ना सिर्फ चित्रांगदा और उलूपी से विवाह किया था बल्कि सुभद्रा को भी इसी दौरान उन्होंने अपनी पत्नी बनाया था।

10.बभ्रुवाहन

मणिपुर की राजकुमारी चित्रांगदा से विवाह करने के बाद अर्जुन को एक पुत्र की प्राप्ति हुई जिसका नाम था बभ्रुवाहन।

11. वनवास काल

वनवास के दौरान ही अर्जुन का विवाह नाग कन्या उलूपी के साथ भी हुआ था। उलूपी और अर्जुन का एक पुत्र भी था अहिरावण, जो किन्नरों के इष्ट देव हैं।

अगर अापके पास ऐसा कोई Article है ,जिसे अाप लोगो के साथ Share करना चाहते है तो अाप उसे हमे भेज सकते है. हमे Email करे - Gazabjankari@gmail.com पर अपना नाम के साथ। हम अपके Article को यंहा Gazabjankari पर Share करेंगे।

Comments

comments